Wednesday , November 14 2018
Breaking News
Home / ताजा खबर / 4.39 करोड़ की लागत से बनेगा नया जीएसएस, 10 हजार लोगों को मिलेगा फायदा शिक्षा राज्यमंत्री ने कोटड़ा में किया नए जीएसएस का उद्घाटन विद्युत आपूर्ति व्यवस्था में होगा सुधार, ट्रिपिंग की समस्या से मिलेगी निजात

4.39 करोड़ की लागत से बनेगा नया जीएसएस, 10 हजार लोगों को मिलेगा फायदा शिक्षा राज्यमंत्री ने कोटड़ा में किया नए जीएसएस का उद्घाटन विद्युत आपूर्ति व्यवस्था में होगा सुधार, ट्रिपिंग की समस्या से मिलेगी निजात

new gss will be built at a cost of 4.39 crores
जयपुर, 14 जुलाई। शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्य मंत्री श्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि अजमेर उत्तर विधानसभा क्षेत्र आने वाले दिनों में ट्रिपिंग की समस्या से पूरी तरह मुक्त हो जाएगा। केन्द्र सरकार की आईडीपीएस योजना के तहत बनने वाले 12 नए जीएसएस में से 8 अजमेर उत्तर क्षेत्र में बन रहे हैं। करोड़ों रुपए की लागत से बनने वाले यह जीएसएस विद्युत के क्षेत्र में एक नई क्रान्ति साबित होंगे। क्षेत्र के लाखों लोगों को निर्बाध एवं उच्च गुणवत्ता की बिजली प्राप्त होगी। 
 
शिक्षा राज्यमंत्री ने आज कोटड़ा क्षेत्र में 4.39 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले 33 केवी जीएसएस का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि नया जीएसएस शुरू होने से हरिभाउ उपाध्याय नगर विस्तार, प्रगति नगर, महाराणा प्रताप नगर, पत्रकार कॉलोनी एवं आसपास की कॉलोनियों में रहने वाले करीब 10 हजार लोगों को विद्युत संबंधी समस्याओं से मुक्ति मिलेगी। आईपीडीएस योजना के तहत इस जीएसएस का निर्माण किया जा रहा है। इस जीएसएस सेे ट्रिपिंग रहित एवं गुणवत्तापूर्ण विद्युत सप्लाई मिलेगी। 
 
उन्होंने कहा कि अजमेर उत्तर विधानसभा क्षेत्र में पिछले साढ़े चार साल में विद्युत व्यवस्था में सुधार के लिए 150 करोड़ से अधिक के कार्य करवाए गए हैं।  नए जीएसएस के साथ ही शहर की प्रमुख सडक़ों पर अंडर ग्राउंड केबलिंग, नई लाइटें एवं अन्य कार्य कराए गए हैं। उन्होंने कहा कि शहर के साथ ही माकड़वाली, लोहागल, हाथीखेड़ा, अजयसर एवं अन्य गांवों में भी विद्युत व्यवस्था में सुधार के लिए करोड़ों रुपए के कार्य करवाए गए हैं। इन क्षेत्रों को भी अब उच्च गुणवत्ता की विद्युत आपूर्ति मिल रही है। 
 

उन्होंने मौके पर उपस्थित टाटा पावर के अधिकारियों को निर्देश दिए कि पूरे शहर में विद्युत तंत्र में सुधार हुआ है। अधिकारी यह तय करें कि लोगों को विद्युत से संबंधित समस्याएं नहीं हो। आने वाले दिनों में बारिश का मौसम हैं ऎसे में किसी भी संभावित दुर्घटना से निपटने के लिए अलर्ट रखा जाए। उन्होंने टाटा पावर से सामाजिक क्षेत्र में सहयोग के लिए भी आग्रह किया। 

 
श्री देवनानी ने कहा कि अजमेर स्मार्ट सिटी के रुप में विकसित हो रहा है।  स्मार्ट सिटी एवं अन्य योजनाओं के तहत शहर में चल रहे विभिन्न कार्य शीघ्र ही पूरे हो जाएंगे। इण्डियन ऑयल कॉर्पोरेशन के सहयोग से शीघ्र ही विद्यालयों में और अधिक स्मार्ट क्लास रुम विकसित किए जाएंगे। साथ ही आनासागर झील के चारों ओर चौपाटी, सुभाष उद्यान, मिनी बर्ड सेंचुरी, लवकुश उद्यान, कैफेटेरिया सहित अन्य काम शीघ्र पूरे किए जाएंगे। इस अवसर पर श्री अरविंद यादव सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी एवं स्थानीय लोग उपस्थित थे।  
 

Check Also

मतदान जागरूकता के लिए रविवार को ‘लेट्स वोट जयपुर’ मैराथन का आयोजन

जयपुर, 26 अक्टूबर। विधानसभा आम चुनाव-2018 में युवा, महिला, दिव्यांगजनों सहित समस्त मतदाताओं को मतदान …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *