Monday , December 10 2018
Breaking News
Home / ज्योतिष (page 2)

ज्योतिष

जानिए वैवाहिक जीवन में तनाव के कारण (ज्योतिष एवं वास्तु दोष का आपके वैवाहिक जीवन पर प्रभाव)

dayanand

विवाह हमारे पारम्परिक सोलह संस्कारों में से एक है, जीवन के एक पड़ाव को पार करके किशोरावस्था से युवास्था में प्रवेश करने के बाद व्यक्ति को जीवन यापन और सामाजिक ढांचे में ढलने के लिए एक अच्छे जीवन साथी की आवश्यकता होती है और जीवन की पूर्णता के लिए यह …

Read More »

क्या राहु राजनीति में सफलता दिलाता हैं – जानिए आपकी कुंडली में राहू की स्थिति से इस बारे में फल को

dayanand

– पंडित दयानन्द शास्त्री, (ज्योतिष-वास्तु सलाहकार) वर्तमान में राजनीति एक ऐसा क्षेत्र बनता जा रहा है, जहाँ कम परिश्रम में भरपूर पैसा व प्रसिद्ध‍ि दोनों ही प्राप्त होते हैं। ढेरों सुख-सुविधाएँ अलग से मिलती ही है। और मजा ये कि इसमें प्रवेश के लिए किसी विशेष शैक्षणिक योग्यता की भी …

Read More »

जानिए गर्भाधान संस्कार द्वारा कैसे पाएं सुंदर, स्वस्थ, तेजस्वी, गुणवान, बुद्धिमान, प्रतिभाशाली और दीर्घायु संतान

– पंडित दयानन्द शास्त्री, (ज्योतिष-वास्तु सलाहकार) मुहूर्त में गर्भाधान संस्कार करने से सुंदर, स्वस्थ, तेजस्वी, गुणवान, बुद्धिमान, प्रतिभाशाली और दीर्घायु संतान का जन्म होता है। इसलिए इस प्रथम संस्कार का महत्व सर्वाधिक है।संस्कार का अर्थ संस्करण, परिष्करण, विमलीकरण अथवा विशुद्धिकरण से लिया जाता है। हिंदू धर्म में जातक के जन्म …

Read More »

मकर संक्रांति

dayanand

– पंडित दयानन्द शास्त्री, (ज्योतिष-वास्तु सलाहकार) सूर्य का मकर राशि में प्रवेश करना ही मकर संक्रांति कहलाता है। इस दिन से सूर्य उत्तरायण हो जाता है। शास्त्रों में उत्तरायण की अवधि को देवताओं का दिन और दक्षिणायन को देवताओं की रात कहा गया है। इस दिन स्नान, दान, तप, जप …

Read More »

जानिए आपकी जन्म कुंडली से की विवाह किस दिशा में होगा और ससुराल की कितनी दुरी पर होगा

dayanand shastri

पंडित दयानन्द शास्त्री, (ज्योतिष-वास्तु सलाहकार) जानिए आपकी जन्म कुंडली से की विवाह किस दिशा में होगा और ससुराल की कितनी दुरी पर होगा कैसे जाने जन्म कुण्डली से ससुराल की दूरी – यदि कन्या को जन्म कुंडली के सप्तम भाव में अगर वृष, सिंह, वृश्चिक या कुंभ राशि स्थित हो, …

Read More »

आइये जाने क्या हैं ज्योतिष विषय और उसकी अन्य शाखाएं

dayanand shastri

पंडित दयानन्द शास्त्री, (ज्योतिष-वास्तु सलाहकार) हमारा भारतीय ज्योातिष विषय वेदों जितना ही प्राचीन है। प्राचीन काल में ग्रह, नक्षत्र और अन्यज खगोलीय पिण्डों का अध्यायन करने के विषय को ही ज्योोतिष कहा गया था। इसके गणित भाग के बारे में तो बहुत स्पष्टता से कहा जा सकता है कि इसके …

Read More »

जानिए क्या होता है मलमास,कब होगा मलमास आरम्भ,जानिए 2018 के शुभ विवाह मुहूर्त

dayanand shastri

2018 के शुभ विवाह मुहूर्त – पंडित दयानन्द शास्त्री, (ज्योतिष-वास्तु सलाहकार) सूर्य के बृहस्पति की धनुराशि में गोचर करने से खरमास, मलमास शुरू होता है । यह स्थिति 14 जनवरी तक रहती है । इस कारण मांगलिक कार्य नहीं होंगे। जैसे ही सूर्य ग्रह धनु राशि में प्रवेश करेगा। मलमास …

Read More »

जानिए सात मुखी रुद्राक्ष धारण करने के प्रभाव ,परिणाम और उपाय

dayanand shastri

जानिए सात मुखी रुद्राक्ष – पंडित दयानन्द शास्त्री, (ज्योतिष-वास्तु सलाहकार) रुद्राक्ष को भारत में बेहद पवि़त्र माना जाता है। शिव पुराण में रुद्राक्ष के 38 प्रकार बताए गए हैं। इसमें कत्थई रंग के 12 प्रकार के रुद्राक्षों की उत्पति सूर्य के नेत्रों से, श्वेत रंग के 16 प्रकार के रुद्राक्षों …

Read More »

ग्रह शान्ति या ग्रहों के शुभ प्रभाव बढ़ाने हेतु रत्नों के उपयोग में क्या रखनी चाहिए सावधानियां

mahavir soni

– ज्योतिर्विद महावीर कुमार सोनी ग्रहों के अरिष्ट निवारण या ग्रहों के शुभ प्रभाव बढ़ाने हेतु रत्नों के धारण का प्रचलन प्राचीन काल से होता आ रहा है।  भारतीय ज्योतिष प्रणाली में इसको प्राय:कर  प्रत्येक ज्योतिषी अपने मार्गदर्शन में बहुतायत से इनका उपयोग बताया करते हैं।  किन्तु रत्नों के उपयोग में बहुत अधिक …

Read More »

जानिए ग्रहशांति और उन्नति के लिए कुछ सरल एवं आसान उपाय

dayanand shastri

– पंडित दयानन्द शास्त्री, (ज्योतिष-वास्तु सलाहकार) आचार्य वराहमिहिर ने अपने प्रस‍िद्ध ग्रंथ ‘वराह संहिता’ में ग्रह पीड़ा निवारण के लिए रत्न धारण करने पर बल दिया है। दीर्घकालीन एवं असाध्य रोगों के लिए ‘रुद्रसूक्त’ का पाठ या ‘महामृत्युंजय’ का जाप कराना भी शुभ फल देने वाला होता है। 1. जब …

Read More »