Thursday , January 17 2019
Breaking News
Home / ताजा खबर / बेगस जैन मंदिर का वार्षिक मेला भक्तिभाव से हुआ संपन्न

बेगस जैन मंदिर का वार्षिक मेला भक्तिभाव से हुआ संपन्न

जयपुर शहर के निकटवर्ती ग्राम बेगस स्थित अति प्राचीन व अतिशयकारी श्री शांतिनाथ दिगम्ब़र जैन मंदिर का नवम् वार्षिक मेला आज सानन्द एवं भक्तिभाव के साथ सम्पन्न‍ हुआ।
कार्यकारिणी सदस्य जयकुमार जैन बड़जात्या ने अवगत कराया कि वार्षिक मेले में सैकड़ों की संख्या में दिगम्बर जैन धर्मावलम्बियों ने उत्साह से भाग लेकर पुण्यार्जन किया। ध्वजारोहण पवनकुमार-सुमनलता सौगाणी परिवार द्वारा किया गया। ‘लहर-लहर लहराये, के‍सरिया झंडा जिनमत का’ ध्वाजगान सामूहिक रूप से गाकर जैन धर्म की पताका युगों-युगों तक फहराने की भावना श्रद्धालुओं ने भाई। समारोह के मुख्य अतिथि बाबूलाल-अक्षय मोदी रहे। विशिष्ट अतिथि के रूप में राजेन्द्र कुमार-कविता सेठी तथा दीप प्रज्ज्‍वलनकर्ता श्रेष्ठी कैलाशचन्द-उर्मिला देवी जैन सहित चेतन छाबड़ा, टीकमचन्द ठोलिया, राजेन्द्र शाह, जे.के.जैन-कालाडेरा, महेश सेठी, पदमचन्दद पहाडि़या, संतोषदेवी बाकलीवाल, मंजू सेठी, मंजू पांड्या, ज्ञानचन्द जैन, ईश्वरलाल बड़जात्या, लोकल एमएलए डॉट कॉम न्यूज पोर्टल के संचालक मोहित जैन, सरकारी तंत्र एवं गठजोड़ अखबार के संपादक, ज्‍योतिषाचार्य महावीर सोनी, संतोषकुमार अनोपड़ा, विधान सभा में सहायक सम्पादक जयकुमार जैन, नरेशकुमार-कांता पहाडि़या-कलकत्ता, कमल छाबड़ा, विमल जैन, पवन काला, नरेन्द्र  ठोलिया, निर्मल कासलीवाल, अजय पाटौदी आदि की गरिमामय उपस्थिति रही।
मंदिर समिति अध्यक्ष पूनमचन्द ठोलिया एवं मंत्री सुरेश छाबड़ा ने आगंतुक श्रेष्ठीगण एवं अतिथियों का तिलक एवं माल्यार्पण कर स्वागत किया। पं. प्रद्युम्न शास्त्री के निर्देशन में सामूहिक शांति विधान पूजन अत्यन्त श्रद्धा एवं भक्तिभाव से विभोर होकर श्रद्धालुगण द्वारा किया गया। सम्‍पूर्ण मंदिर प्रांगण भगवान शांतिनाथ के जयकारों से गूंज रहा था एवं भक्ति का आलम ऐसा था कि हर किसी के पैर स्वयंमेव ही थिरक रहे थे। महिलाओं ने पारस प्यारा लाग्यो, जिनेश्वर प्यारा लाग्यो, मेरे सिर पर रख दो बाबा अपने ये दोनों हाथ, उड़ती पुरवैया संदेशो म्हारो लेती जा, एक बार आवो जी महावीरा म्हारे पावणा आदि भक्तिरस से सराबोर भजनों पर जमकर नृत्य कर श्रीजी के चरणों में नमन किया।
स्वल्पाहार एवं सामूहिक सुरूचि भोज की व्यवस्था में रमेश छाबड़ा, अशोक छाबड़ा, धर्मचन्द  बड़जात्या, सुनील बेगस्या, प्रमोद छाबड़ा, कमल छाबड़ा, अनिल जैन एवं हितेश पाटनी का योगदान सराहनीय रहा।

Check Also

प्रदेश के किसानों से माफी मांगे राहुल गाँधी: डॉ. अरूण चतुर्वेदी

जयपुर। भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री डॉ. अरूण चतुर्वेदी ने प्रेस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *